आईआईटी दिल्ली में हिंदी पखवाड़ा संपन्न

प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी आई आई टी दिल्ली में हिंदी पखवाड़ा 13 से 30 सितंबर 2019 तक मनाया गया। इसका शुभारंभ 13 सितंबर, 2019 को ‘तकनीक - सक्षम हिंदी: यूनिकोड से आगे क्या?” विषय पर हिंदी कार्यशाला का आयोजन करके किया गया।

इस कार्यशाला में लगभग 60 अधिकारियों एवं स्टाफ सदस्यों ने भाग लिया। इस कार्यशाला के मुख्य वक्ता के रूप में श्री बालेंदु शर्मा दाधीच (निदेशक - स्थानीयकरण और सुगमता माइक्रोसॉफ्ट इंडिया) को आमंत्रित किया गया।

हिंदी पखवाड़ा के दौरान अधिकारियों, स्टाफ सदस्यों और विधार्थियों के लिए कई गतिविधियों/प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिसमें प्रमुख रहीं - निबंध प्रतियोगिता, आशुभाषण प्रतियोगिता, हिंदी नोटिंग/ ड्राफ्टिंग प्रतियोगिता, राजभाषा हिंदी शब्दावली प्रतियोगिता, हिंदी टाइपिंग प्रतियोगिता।

संस्थान में 30 सितंबर, 2019 को हिंदी समारोह मनाया गया। इस अवसर पर लगभग 120 संकाय सदस्यों, प्रशासनिक अधिकारियों, स्टाफ सदस्यों व विद्यार्थियों ने भागीदारी की।

डॉ. नीरज चौरसिया (सह अध्यक्ष, हिंदी कक्ष) ने इस कार्यक्रम का संयोजन किया। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती वंदना से की गई तथा समारोह की अध्यक्षता प्रो. तारा चंद कांडपाल, उप निदेशक (प्रचालन) ने की।

इस अवसर पर विद्यार्थियों एवं स्टाफ सदस्यों के लिए स्वरचित कविता पाठ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें उनकी उत्साहपूर्ण भागदारी रही। इस अवसर पर संस्थान की वार्षिक हिन्दी पत्रिका ‘जिज्ञासा’ का विमोचन किया गया तथा विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेता प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र तथा पुरस्कार वितरित किए गए।

डॉ. सीमा शर्मा (अध्यक्ष, हिंदी कक्ष) ने विगत एक वर्ष के दौरान हिंदी कक्ष की विभिन्न गतिविधियों पर प्रकाश डाला।

उपनिदेशक (प्रचालन) ने अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में राजभाषा हिन्दी में कार्य करने के लिए सभी प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया।

डॉ. संदीप चटर्जी, कुलसचिव, आई आई टी दिल्ली ने भी संस्थान में राजभाषा हिन्दी के प्रगामी प्रयोग के लिए किए जा रहे प्रयासों से सभी को अवगत कराया।

अंत में श्री आनंद प्रकाश (सहायक कुलसचिव, हिंदी कक्ष) ने सभी प्रतिभागियों को विभिन्न गतिविधियों/प्रतियोगिताओं में उत्साह के साथ भाग लेने के लिए धन्यवाद दिया।